राजनीति विदेश समाचार

पाकिस्तानी सेना ने आतंकी संगठनों से जुड़े समूहों को राजनीति में लाने की योजना की पुष्टि की

Smiley face

इस्लामाबाद,05 अक्टूबर (एजेंसी ) पाकिस्तानी सेना ने आज इस बात की पुष्टि की है कि आतंकवादी समूहों से जुड़े संगठनों को देश की राजनीति की मुख्य धारा में लाए जाने की योजना है।

इस्लामिक आतंकवादी हाफिज सईद के नियंत्रण वाली नई आतंकी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग(एमएमएल) ने पिछले माह सितंबर में पूर्वी लाहौर में संसदीय सीट पर हुए उप चुनाव में एक प्रत्याशी को समर्थन दिया था। यह सीट अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के इस्तीफ के बाद रिक्त हुई थी।

श्री शरीफ के तीन विश्वास पात्रों और एक सेवानिवृत सैन्य जनरल ने कहा है कि इस तरह की योजना पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पिछले वर्ष श्री शरीफ के समक्ष पेश की थी लेकिन उस समय प्रधानमंत्री ने इसे खारिज कर दिया था।

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ऐसे संगठनों के लिए एक सकारात्मक भूमिका विकसित करने की योजना है। हाफिज सईद की एमएमएल पार्टी के बारे में पूछे जाने पर सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि यह उसी योजना का एक हिस्सा है जिसकी शुरूआत हो चुकी है।

उन्होंने कहा”यह मेरी जानकारी में है कि सरकार ने इस मामले में थोड़ा विचार विमर्श शुरू कर दिया है कि हम किस तरह ऐसे समूहों को राजनीति की मुख्यधारा में लाएं ताकि उनकी सकारात्मक भूमिका का फायदा लिया जा सके।

उन्होंने यह भी कहा ” इसे आगे किस तरह अमल में लाया जाना है यह तो आने वाला समय ही बताएगा और इस बारे में कोई भी फैसला सरकार को ही करना है।”

Smiley face